जापान के प्रधानमंत्री बोले- गेम्स होकर रहेंगे; भारतीय हॉकी कप्तान ने कहा- हम हर चुनौती के लिए तैयार - NewsSect

News, Bollywood, Sports, Share Market, International, Weather, Automobile, Politics

Breaking

Amazon

Monday, January 4, 2021

जापान के प्रधानमंत्री बोले- गेम्स होकर रहेंगे; भारतीय हॉकी कप्तान ने कहा- हम हर चुनौती के लिए तैयार

जापान के प्रधानमंत्री योशिहिडे सुगा ने सोमवार को कहा कि इस साल टोक्यो ओलिंपिक निश्चित रूप से होगा। टोक्यो ओलिंपिक पिछले साल 24 जुलाई से 9 अगस्त तक होना था। लेकिन कोरोना की वजह से इसे एक साल के टाल दिया गया था। अब यह इस साल 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होगा। सुगा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा- हम टोक्यो ओलिंपिक और पैरालिंपिक गेम्स को तैयार करने के लिए तैयार हैं। इसके लिए तैयारी कर ली गई है। वहीं कोरोना संक्रमण रोकने के लिए हर संभव प्रयास की जाएगी। साथ ही सरकार पिछले हफ्ते टोक्यो और उसके आस-पास बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए यहां स्टेट ऑफ इमरजेंसी घोषित करने का विचार की जा रही है।
मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत

वहीं भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत ने कहा है- ओलिंपिक के रास्ते में आने वाले हर चुनौती को लेकर मानसिक रूप से मजबूत होने के की जरूरत है। ओलिंपिक गेम्स में 200 दिन रह गए हैं।ऐसे में यह 200 दिन काफी महत्वपूर्ण हो गए हैं। ऐसे में हमें अपने लक्ष्य को पाने के लिए ट्रेनिंग और टूर्नामेंट में 100% देना होगा।

रानी रामपाल ने कहा- खेल के हर क्षेत्र में सुधार करने पर फोकस करना होगा
वहीं महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा- ओलिंपिक में कुछ ही महीने बचे हैं, ऐसे में हमें खेल के हर क्षेत्र में सुधार करने पर फोकस करना होगा। पिछले चार महीनों से खिलाड़ियों ने कैंप में कड़ी मेहनत की है। वहीं आगे कुछ महीनों में हमें अपने खेल को और इंप्रूव करने पर फोकस करना होगा। वहीं ओलिंपिक से पहले होने वाले टूर्नामेंट से हमें पता चल सकेगा कि हमारी तैयारी किस तरह की है और हमें किन क्षेत्रों में काम करने की जरूरत है। हमें पता चलेगा कि हम मानसिक रूप से प्रतियोगिता के लिए कितना तैयार हैं। हमारी फिटनेस कैसी है।




Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भारतीय हॉकी कप्तान मनप्रीत का मानना है कि ओलिंपिक के रास्ते में अभी कई प्रकार की चुनौतियां सामने आएगी। ऐसे में खिलाड़ियों को मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत है।


दैनिक भास्कर,,1733

No comments:

Post a Comment

Pages